09 August, 2020

Meaning of Hernia in Hindi || जानें हर्निया के लक्षण, कारण, बचाव व इलाज ||

Meaning of Hernia in Hindi || जानें हर्निया के लक्षण, कारण, बचाव व इलाज ||


हर्निया आमतौर पर पेट में होता है, लेकिन हर्निया जांघ के ऊपरी हिस्से या नाभि और कमर के आस-पास हो सकता है। हर्निया अधिकांश घातक नही होते है, लेकिन हर्निया अपने आप ठीक नही होते है। कभी-कभी ऐसी परिस्थितियाॅ बन जाती है कि हर्निया की जटिलताओं से बचने के लिए सर्जरी करनी पड़ जाती है। हर्निया एक ऐसी बीमारी है, जो एक मांसपेशी या ऊतक में किसी छेद के माध्यम से अन्दर का अंग उभरकर बाहर आने लगता है, जिसे हर्निया कहते है, जैसे-आंत, पेट की अन्दरूनी परत में किसी कमजोर जगह में छेद करके बाहर की तरफ आने लगती है। 
हर्निया Meaning of Hernia in Hindi का दर्द आपको आराम करते समय या कुछ खास गतिपूर्वक कार्य करते समय हो सकता है, जैसे-चलने या दौड़ने पर।

Meaning of Hernia in Hindi
Meaning of Hernia in Hindi


हर्निया की बीमारी पुरूषों और महिलाओं दोनों में पायी जाती है। किन्तु अधिकांश यह बीमारी पुरूषों में अधिक पायी जाती है।
हर्निया की समस्या पुरूषों के कमर भाग पर खासतौर पर मिलता है।
कुछ लोगों में हर्निया Meaning of Hernia in Hindi की समस्या जन्मजात से ही रहती है।

Meaning of Hernia in Hindi
Meaning of Hernia in Hindi

हर्निया का लक्षण-

हर्निया में पाये जाने वाले लक्षण इस प्रकार है, जैसे-
  • पेट के नीचले भाग और जांघों के ऊपरी भाग में सूजन होना।
  • मलमूत्र त्यागने में परेशानियों का बढ़ जाना।
  • पेट की चर्बी बाहर की तरफ निकल जाना।
  • अधिक समय तक खड़े रहने या बैठने पर दर्द होना।

हर्निया के कारण-

हर्निया Meaning of Hernia in Hindi होने का कारण इस प्रकार है, जैसे-
  • अधिक या लम्बे समय तक खांसी आने के कारण हो सकता है।
  • कब्ज होने की स्थिति में हो सकता है।
  • गर्भावस्था की स्थिति में हो सकता है।
  • बढ़ती उम्र होने के कारण हो सकता है।
  • भारी वजन उठाने के कारण हो सकता है।
  • ज्यादा मोटापा होने के कारण हो सकता है।
  • चोट होने के कारण भी हो सकता है।
  • अगर पुराना आपरेशन हुआ हो तो उसके कारण भी हो सकता है।

हर्निया से बचाव-

हर्निया Meaning of Hernia in Hindi से बचने के लिए नीचे सावधानियाॅ निम्न प्रकार है-
  • लम्बे समय तक खांसी आने पर उसे डाक्टर से तुरन्त दिखायें।
  • योग और व्यायाम करें, ताकि कब्ज की समस्या न हो।
  • भारी वजन न उठायें।
  • स्वस्थ भोजन का सेवन करें।
  • अगर भारी वजन उठाना है तो तकनीक का प्रयोग करें।
  • अगर बार-बार खांसी आती है तो धुम्रपान का सेवन न करें।
  • हर्निया के शुरूआती लक्षण मिलने पर चिकित्सक से जरूर दिखाएं और इलाज करायें।
  • मलमूत्र करने या शौच करने में अधिक दबाव न बनायें।

हर्निया का इलाज-

  • हर्निया Meaning of Hernia in Hindi की समस्या होने पर सबसे पहले चिकित्सक से दिखायें और इलाज करवायें।
  • हर्निया होने की समस्या को डाक्टर सर्जरी के माध्यम से इलाज करते है, लेप्रोस्कोपिक सर्जरी या ओपन सर्जरी।
  • ओपन सर्जरी में व्यक्ति को कम से कम छः महिने तक आराम करना होता है। व्यक्ति छः महिने तक ठीक से चल-फिर नही सकता है और ठीक से व्यायाम भी नही कर सकता है।
  • लेप्रोस्कोपिक सर्जरी में शरीर पर छोटा आपरेशन किया जाता है। यह ऊतक के आस-पास होता है। यह सर्जरी हानिकारक नही होता है।
  • हार्ट की समस्या होने पर डाक्टर, व्यक्ति को लोकल सर्जरी करवाने का सुझाव देतें है। 


No comments:

Post a Comment