19 July, 2020

About Hernia in Hindi || जानें हर्निया के कारण, लक्षण, इलाज और सावधानियाॅ-

About Hernia in Hindi || जानें हर्निया के कारण, लक्षण, इलाज और सावधानियाॅ-

हर्निया के बारे में आप सुना होगा कि लोग अक्सर कहते है कि मुझे हर्निया हुआ है, हर्निया से परेशान है, लेकिन आपको बता दें कि हर्निया एक आम समस्या है, जो स्त्री और पुरूष दोनों में होता है। हर्निया किसी को भी हो सकता है। हर्निया जांघ और पेट दोनों के बीच में होता है और तीव्रता से दर्द होने लगता है। जब पेट की मसल कमजोर हो जाती है तो हर्निया की समस्या होने लगती है। मनुष्य की पेट में मांसपेशियां कमजोर हो जाती है और उनके अन्दर से आंते बाहर आने लगती है और लेट जाने पर अन्दर चला जाता है। हर्निया की समस्या में यदि आप खडे़ है, खांसते है या कोई भी कार्य करते है तो परेशानियां होने लगती है और लेट जाने पर आराम मिलने लगता है।

About Hernia in Hindi
About Hernia in Hindi


हर्निया के बारे में-

पेट में हर्निया About Hernia in Hindi होना बहुत ही आम बात होती है, हर्निया की परेशानी उस समय उत्पन्न होती है, जब पेट में से कोई अंग या मांसपेशी पेट की दिवार से छेद की सहायता से बाहर आने लगता है। हर्निया पेट और जांघ के बीच भाग में होता है। हर्निया के लक्षण दिखाई नही देते पर तीव्रता से दर्द होना काफी सामान्य होता है। इसी से हम पहचान सकते है कि हमें हर्निया की समस्या है।

हर्निया का कारण बन सकते है ये कार्य-

कुछ ऐसे कार्य होते है, जो शरीर पर काफी दबाव डालते है, जिससे मांसपेशियां कमजोर होने लगती है और हर्निया के कारण बन जाते है, जैसे-गर्भवती होने में पेट पर दबाव होना, भारी वजन उठाना, धुम्रपान करना, शरीर में थकावट होना, खराब पोषण के उपरान्त, लगातार खांसी और झींकने के कारण, कब्ज होने पर, किसी भी अंग की सर्जरी कराने के कारण, ज्यादा मोटापा या वजन बढ़ जाने के कारण, पेट में मुक्त द्रव होने से इत्यादि कारणों से शरीर पर दबाव बनने लगता है, जिससे हर्निया About Hernia in Hindi की समस्या होने लगती है।

About Hernia in Hindi
About Hernia in Hindi


हर्निया कई प्रकार के होते है-

हर्निया About Hernia in Hindi मनुष्यों में अलग-अलग तरीकों से हो सकता है, जैसे-नाभि हर्निया, जघनास्थिक हर्निया, वेक्षण हर्निया एवं इंसिजनल हर्निया, जिसका संक्षिप्त विवरण नीचे निम्न प्रकार है-

  •  नाभि हर्निया-

नाभि हर्निया, बच्चों में खासकर कम से कम 6 माह के बच्चों में हो सकता है। ऐसा तब होता है, जब उनकी आंते नाभि के पास पेट की दिवार के माध्यम से बाहर आने लगती है। हर्निया को आप बच्चों में उभरते हुए उस समय देख सकते है, जब वो रो रहा हो।

  • जघनास्थिक हर्निया-

जघनास्थिक हर्निया केवल 20 से 25 प्रतिशत लोगों को ही होता है, खासकर महिलाओं को अधिक होता है। यह हर्निया जांघो के ऊपरी हिस्सों में दिखाई देता है। यह खांसी आने या किसी भी तरह के दर्द से वापस आ सकता है और लेट जाने पर अन्दर चला जाता है।

  • वेक्षण हर्निया-

इंग्वाइनल हर्निया, ब्रिटिश हर्निया सेन्टर के अनुसार सभी प्रकारों की हर्निया में कुल 70 से 75 प्रतिशत मामलों में ये हर्निया ज्यादा पाया जाता है। ये हर्निया महिलाओं की अपेक्षा पुरूषों में ज्यादा पाया जाता है। यह हर्निया तब होती है, जब आंत पेट में किसी कमजोर दिवार को छेद कर बाहर आ जाता है।

  • इंसिजनल हर्निया-

ये हर्निया जब पेट की सर्जरी होती है, उसके बाद हो सकती है, क्यों कि आंते आपरेशन के निशान या आसपास के कमजोर ऊतक के माध्यम से बाहर निकल आती है।

हर्निया के लक्षण-

हर्निया About Hernia in Hindi कोई बड़ी समस्या जैसा नही लगता है। यह एक दर्द रहित छोटा-सा समस्या होता है, जिसे तत्काल लोग चिकित्सक से नही दिखा पाते है। हर्निया खडे़ होने पर अधिक तनाव के कारण, भारी वस्तुओं को उठाने से अक्सर दर्द होना शुरू हो जाता है, जिसमें ज्यादात्तर लोग उभार में वृद्धि देखते है। हर्निया की लक्षण जैसे-उल्टी, दर्द जी मिचलाना, उभार को वापस पेट में धक्का न दिया जा सके, ऐसे लक्षणों को पता चलने पर तत्काल चिकित्सक से दिखाना आवश्यक होता है।

हर्निया About Hernia in Hindi का इलाज जैसे-जीवन शैली में बदलाव, दवाईयों की सहायता से या सर्जरी के द्वारा निजात पा सकते है।

हर्निया से बचने के उपाय-

मांसपेशियां की कमजोरी को रोक नही सकते हैं, लेकिन अपने शरीर के तनाव को कम कर सकते हैं या हर्निया के रोकथाम के लिए इन उपायों को कर सकते है, जैसे-बहुत भारी वजन न उठायें, किसी वजन को पीठ से न उठायें, अपने घुटनों से वजन उठायें, अपने वजन को सही रखें, धुम्रपान से बचें, ज्यादा खांसी या बीमार होने पर चिकित्सक से तुरन्त दिखायें। हर्निया About Hernia in Hindi को शुरूआती चिकित्सक देखभाल या जीवनशैली में बदलाव करके अपने आपको घातक जटिलताओं से बच सकते है।


No comments:

Post a Comment